Thursday, November 24, 2016

फर्जी पायलट बनाने वाली हिसार हवार्इपटटी से कालेधन का खेल

हरियाणा का हिसार हवार्इअडडा यूं तो छोटी सी हवार्इपटटी है लेकिन बदनामी में इसका नाम सबसे बडा है.फिर चाहे फर्जी पायलट तैयार करने का मामला हो या फिर अब काले धन की हेराफेरी का.शांंत पडा रहने वाला हिसार का हवार्इअडडा प्रधानमंत्री मोदी के नोट बंद की घोषणा के बाद सबसे ज्यादा चार्टर विमान संचालित करने वाला हवार्इअडडा बन गया.सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यहां से हर दिन दो से तीन उडान हुर्इ है आैर वह भी सिर्फ पूर्वोत्तर राज्यों के लिए.

कालाधान खापने का काला खेल
दरअसल पूर्वोत्तर राज्याें कर्इ जनजातियों को हर प्रकार के आयकर प्रावधान से छुट मिली हुर्इ है.कोर्इ भी आयकर के दायरे में नहीं आता है आैर न ही कोर्इ कानून लागू होता है.अब इसी गलियारे को चोरटाइप के चाटर्ड एकाउंटेंटस ने कालाधान का गलियारा बना डाला. नोट बंद की घोषणा के बाद एक के बाद एक चाटर्ड विमान दीमापुर पहुंचने लगे.

तीन करोड ने बिगडा खेल

इसी दौरान साढे तीन करोड रूपए पकडे गए आैर फिर रहस्मय तरीके से गायब भी हुए आैर अब फिर मिल गए हैं लेकिन इस छानबीन के दौरान जो चौंकाने वाली जानकारी आयकर अधिकारियों के सामने आर्इ उसने होश उडा दिए.आननफानन में चाटर्ड विमानों के रूट परमिशन डीजीसीए आैर एटीसी से मांगए गए आैर अब सभी उडानों की जांच शुरू हो गर्इ है.

शादी विवाह के बहाने खप रहे नोट

आयकर विभाग से जुडे एक अधिकारी का कहना है कि नोट खपाने के लिए करोडपति परिवारों ने शादी का बहाने भी उपयोग किया है.एक राज्य जिसमें सबसे ज्यादा शादियों होती है.अब वह भी दायरे में है.शादी में परिवार को लाने ले जाने के बहाने रकमो की भी हेराफेरी हुर्इ है;

इन राज्यों में है छूट
लददाख
मिजोरम
असम
मेघालय
मणिपुर
नागलैंड
त्रिपुरा
अरुणाचल प्रदेश

जब विद्यासागर जी ने चप्पल फेंकी

जब विद्यासागर जी ने चप्पल फेंकी फिर एक चप्पल चली। रोज ही कहीं ना कहीं यह पदत्राण थलचर हाथों में आ कर नभचर बन अपने गंत्वय की ओर जाने क...